IQNA

17:10 - November 20, 2018
समाचार आईडी: 3473081
अंतरराष्ट्रीय समूह, दुबई जेल में एक चीनी महिला ने जिसको उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी, जेल से रिहा होने के बाद अपने देश में एक कुरान प्रशिक्षण केंद्र स्थापित किया।

IQNA की रिपोर्ट alroeya.ae समाचार साइट के अनुसार;दुबई में महिलाओं की जेल के प्रमुख, जमीला अज़-ज़ेआबी ने इस खबर की घोषणा करते हुए कहाः कि इस चीनी महिला ने दुबई में जेल में प्रवेश करने के बाद धार्मिक शिक्षा व हिफ़्ज़े क़ुरआन बैठकों में भाग लिया और इस्लाम की ओर बहुत इच्छा जताई इस तरह कि कुछ महीनों के बाद, खुद को एक मुस्लिम घोषित कर दिया, और पूर्ण कुरान को याद करना शुरू कर दिया।
उन्होंने इस बयान के साथ कि यह बात सज़ा रूपान्तरण का कारण और अंत में इस चीनी महिला की रिहाई होगई, कहाः उसने रिहाई से पहले जेल अधिकारियों को चीन में एक हिफ़्ज़े कुरान प्रशिक्षण केंद्र खोलने के अपने इरादे से सूचित कर दिया था और मुक्ति के बाद अपने परिवार को भी मुस्लिम और हिफ़्ज़े कुरान का एक प्रमुख केंद्र भी स्थापित किया, और अपने देश में धार्मिक और न्यायशास्र प्रशिक्षण सत्र प्रायोजित किए।
अज़-ज़ेआबी ने कहा: अब तक, दुबई की महिलाओं की जेल में पांच विदेशी महिला कैदी सफल रही हैं, कि जेल में सीखे गए कौशल का उपयोग करते हुऐ अपने देश में कुछ विशेष परियोजनाएं पूरी की हैं और सफलता के रास्ते को तय किया।
3765240
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :