IQNA

16:20 - August 02, 2021
समाचार आईडी: 3476221
तेहरान(IQNA)मिस्र के अल-यवम अल-साबेअ टीवी चैनल ने एक 11 वर्षीय लड़की की जीवन कहानी प्रसारित की, जो कैंसर और अंधेपन से पीड़ित होने के बावजूद 7 साल की उम्र में कुरान को याद करने में कामयाब रही।

अल-यवम अल-साबेअ के अनुसार; "हनीन अशरफ़ अबू अल-ऐनैन मुहम्मद" मिस्र के अल-शरकिया प्रांत की एक 11 वर्षीय लड़की है, जिसे 9 महीने की उम्र में कैंसर का पता चला था और कैंसर कोशिकाएं उसके शरीर के कुछ हिस्सों में अलग-अलग फैल गईं यहां तक कि कैंसर की बीमारी शुरू होने के 2 महीने बाद अपनी दृष्टि खो दी।
 
लेकिन इस गंभीर बीमारी और दृष्टि की हानि के बावजूद, भगवान ने बच्चे को धैर्य दिया और उसने चमत्कारिक रूप से उपचार के लिए सकारात्मक प्रतिक्रिया दी, जिससे कि बीमारी का इलाज कर रहे डॉक्टर प्रभावित हुए और उन्हें मजबूर किया ता कि उसके सब्र को जानें। 
 
ईश्वर ने धैर्य के आशीर्वाद के अलावा पवित्र कुरान को याद करने का आशीर्वाद भी दिया और 7 साल की उम्र में पूरे कुरान को याद करने में कामयाब रहे और 20 कुरान प्रतियोगिताओं में पहला स्थान हासिल किया।
 
कुरान के इस हाफ़िज़ बच्चे की 43 वर्षीय मां ऐतेमाद फ़त्ही का कहना है कि उनके बच्चे को 9 महीने की उम्र में जब वह अभी भी एक शिशु थी तेज़ बुखार हो गया था, जिससे उसकी आंखों में सूजन आ गई थी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, और कई परीक्षणों के बाद, उनके डॉक्टर ने उन्हें सूचित किया कि हनीन को कैंसर है और कैंसर की कोशिकाओं ने उनके शरीर के सभी हिस्सों को संक्रमित कर दिया है, इसलिए उन्हें कीमोथेरेपी से गुजरना पड़ा। भगवान की दूसरी परीक्षा थी कि इस बीमारी के कारण हनीन की आंखों की रोशनी भी चली गई। लेकिन भगवान ने चाहा, वह 3 साल की उम्र में ठीक हो गई और 7 साल की उम्र में पूरे कुरान को याद कर लिया। उन्होंने 20 से अधिक कुरानिक प्रतियोगिताओं में भाग लिया और पवित्र कुरान को याद करने में पहला स्थान हासिल किया।
3987821


नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: