IQNA

9:59 - August 28, 2012
समाचार आईडी: 2400530
इंटरनेशनल ग्रुप: इमाम अली (के रूप में) की बेटी हजरत सकीना(स) की दरगाह पर आतंकवादी समूहों के हमले को सीरिया के सैन्य बलों ने समय पर आकर विफल कर दिया.
ईरानी कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) अलआलम नेटवर्क सूचना केंद्र के अनुसार, आतंकवादी और सशस्त्र गुटों जिन्हों ने इस्लाम के नाम को बदनाम कर दिया है, ने सीरिया में पवित्र स्थानों और धार्मिक स्थलों पर हमला करने को अपने एजेंडेमें रखा है.
आतंकवादी समूह पवित्र स्थानों पर हमला कर रहे है यहां तक कि इन पवित्र स्थानों में से एक "हलब"शहर के "अल-मश्हद" मोहल्ले में इमाम हुसैन(अ.) के बेटे जनाब मोहसिन का मज़ार था आतंकवादियों ने इस स्थल के कुछ हिस्सों को नष्ट करके बंदूकधारियों की ऐक संख्या को वहां खड़ा दिया था.
अली अहमद, हजरत सकीना(स) की दरगाह के सेवक ने कहा कि 35 बंदूकधारियों ने इस जगह को घेर लिया था और इसे अपने नियंत्रण में लेने की कोशिश कर रहे थे.
उन्होंने कहा: वर्तमान में, कई परिवारों आतंकवादी कृत्यों की वजह से विस्थापित हो गऐ हैं और इस पवित्र जगह पर आश्रय लिया है और कब्र के एक निम्न वर्ग में रहते हैं.
सशस्त्र समूहों अपनी इन कार्वाइयों से विद्रोहात्मक प्रचार के ज़रये मुसलमानों के बीच झगड़ा कराना चाहते हैं ता कि इस तरह वह पश्चिम के हितों की सेवा कर सकें और पश्चिम अतिवादी समूहों का जो इस्लाम के नाम को बदनाम कर रहे हैं उपयोग करके लाभ उठा रहा है और इस षड्यंत्र को अमली करने के प्रयास में है.
1086292
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: