IQNA

5:46 - September 18, 2012
समाचार आईडी: 2413832
अंतरराष्ट्रीय: हिज़्बुल्ला के प्रमुख सैयद हसन नस्र अल्लाह ने अपने बयान में कहा है कि रसूल अल्लाह (स.व.) और इस्लाम के अपमान पर शामिल फिल्म सल्मान रुश्दी की किताब शैतानी आयात और कुराने मजीद के जलाने वाले अमल से भी अधिक खतरनाक है.
ईरानी कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) ने समाचार एजेंसी tayyaf.org के हवाले से नक़्ल किया है कि हिज़्बुल्ला लेबनान के प्रमुख श्री सैयद हसन नस्र अल्लाह ने अलमनार टीवी चैनल को ऐक इंटरव्यू देते हुए कहा कि रसूल अल्लाह (स.) और इस्लाम के खिलाफ बनाई जाने वाली फिल्म सल्मान रुश्दी की किताब शैतानी आयात और कुरआन के जलाने वाले अमल से भी अधिक खतरनाक है.
सैयद हसन नस्र अल्लाह ने कहा कि इस अभद्र हरकत पर मुसलमानों की प्रतिक्रिया स्वाभाविक है क्योंकि ख़ुदा वंदे आलम के बाद सबसे पवित्र हस्ती को निशाना बनाया गया है. हिज़्बुल्ला के प्रमुख ने कहा कि ऐसे कदम का उद्देश्य मुसलमानों और ईसाइयों के बीच झगड़ा आविष्कार करना है. इसलिए सभी इस्लामी और ईसाई लोगों को इससे सावधान रहना चाहिए.
1100003
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :