IQNA

11:16 - September 20, 2012
समाचार आईडी: 2415711
अंतरराष्ट्रीय समूह: मुक़द्दसात के अपमान पर विरोध करना भी अहसन प्रक्रिया है और पश्चिमी देश जानते हैं कि मुसलमान मुक़द्दसात के अपमान पर चुप नहीं रहेंगे. किन्तु यह इस्लामी देशों की जिम्मेदारी है कि मुक़द्दसात के अपमान को रोकें.
ईरानी क़ुरान समाचार एजेंसी (IQNA) की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान से आए पाठक श्री मुबश्शर दिलावर खटक ने IQNA के विशेष प्रतिनिधि से बातचीत करते हुए कहा है कि पश्चिमी देश जानते हैं कि मुक़द्दसात के अपमान पर मुसलमान चुप नहीं रहेंगे. किन्तु इस्लामी देशों के शासकों को चाहिए कि वह इस्लामी मुक़द्दसात के अपमान के बाढ़ को रोकें.
मुबश्शर दिलावर ने कहा कि अगर कोई एक इस्लामी देश पश्चिमी देशों की नीति के मुकाबले में ठोस दृष्टिकोण ले तो भी इस सिलसिले को रोका जा सकता है. उन्होंने कुछ इस्लामी देशों के कदम को सही और ठोस करार न देते हुए कहा है कि उन्होंने अपनी इस्लामी ज़िम्मेदारी पर अमल नहीं किया है. मुबश्शर दिलावर ने कुरान प्रतियोगिता के आयोजन को सराहते हुए कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता से कुरान संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा.
1102259
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :