IQNA

8:31 - December 16, 2012
समाचार आईडी: 2464296
अंतर्राष्ट्रीय समूह: रूसी रूढ़िवादी चर्च के प्रतिनिधि और तातारस्तान मुस्लिम मौलवियों के एक ने टेलीविजन कार्यक्रम में सऊदी से पैदा होने वाली वहाबियत के विचार को बढ़ावा देने से निपटने की जरूरत पर जोर दिया.
ईरानी कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) वेबसाइट « fait-religieux »के अनुसार, एक टीवी कार्यक्रम में जो "चर्च और दुनिया" के शीर्षक के साथ 14 दिसंबर को "रूस 24" चैनल पर प्रसारित हुआ "Hylaryvn" सिटी "Vvlvkvlamsk " के बड़े आर्कबिशप और रूसी रूढ़िवादी चर्च के विदेशी संबंधों के प्रमुख्य ने सऊदी वर्तमान सरकार की शिक्षाओं से जन्मे विचारों को अतिवाद का मुख्य कारण बताया.
इसी तरह इस टीवी कार्यक्रम में अन्य अतिथि, " फरीद सलमान Hydraf " रूस इस्लामी विद्वानों के परिषद के प्रमुख व प्रसिद्ध तातारस्तान मौलवी ने कहाः कि रूसी संघ के कुछ इस्लामी देशों मे हाल के आतंकवादी हमले वहाबी समूह का काम है.
उन्होंने जोर देकर कहाः कि इन हमलों में उन लोगों को निशाना बनाया गया है जो वहाबी अतिवाद का विरोध करने में प्रसिद्ध थे हमलों है और अतिवादी समूह इन व्यक्तियों को बर्दाश्त करने की ताक़त नहीं रखते.
सलमान फरीद ने भी टेलीविजन कार्यक्रम के अंत में इस ओर इशारा करते हुऐ कि वहाबी, सांप्रदायिक तानाशाह समूह है इस्लाम और रूसी रूढ़िवादी चर्च के बीच बातचीत को इस पंथ से लड़ने का आग्रह किया है.
1153988
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: