IQNA

19:09 - May 07, 2017
समाचार आईडी: 3471424
इंटरनेशनल ग्रुप: चीन कुरान की प्राचीन प्रतियों में गतिविधियों और अनुसंधान करने के लिए एक 800 वर्षीय पांडुलिपि की एक प्रति को गांसू प्रांत में जारी करने के लिए कदम उठाया है
चीन में 800 साल पुरानी कुरान की पांडुलिपि मुद्रित

अंतरराष्ट्रीय कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) ने अल जजीरा समाचार साइट डेटाबेस से उद्धृत किया कि चीन के गांसू प्रांत में कुरान की पुरानी पांडुलिपियों पर शोध के साथ कुरान की एक पांडुलिपि को प्रकाशित किया

कुछ ऐतिहासिक स्रोतों से संकेत मिलते है कि इस पांडुलिपि का लेखन 11 वीं सदी में हुआ और शोध का शौक रखने वालों और शोधकर्ताओं के लिए इसकी प्रतियां प्रकाशित की ग़ई हैं बिक्री के लिए नहीं है

रिपोर्ट के अनुसार यह पांडुलिपि 870 पन्नो और 12.5 किलो की है और प्रांत के इस संग्रहालयों में रखा ग़या है पांडुलिपि के वजूद से पता चलता है कि चीन के गांसू प्रांत में सालार लोग 800 साल पहले भी इस्लाम से परिचित थे

माना जाता है कि सालार लोगों के पूर्वजों ने पवित्र कुरान की पांडुलिपि को सैकड़ों साल पहले जब मध्य एशियाई को छोड़ा था खुद को इस क्षेत्र के लिए लाए और चीन की पीली नदी (दूसरी चीन की यांग्त्ज़ी के बाद है जो 5464 किमी लम्बी है

ध्यान रहे कि सालार लोग की चीन के गांसू प्रांत में मुस्लिम अल्पसंख्यकों की सबसे छोटी आबादी थी

3596779

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :