IQNA

13:31 - June 24, 2018
समाचार आईडी: 3472646
इंटरनेशनल ग्रुप - इस्लामिक सेंटर ऑफ़ इमाम अली (अ.स) वियना (ऑस्ट्रिया की राजधानी) ने कुरानिक जीवन पर 30 पोस्टरों का संग्रह प्रकाशित किया।

इस्लामी सेंटर ऑफ़ इमाम अली (अ.स) वियना के मुताबिक IQNA की रिपोर्ट, यह पोस्टर्स परिवारिक जीवन के निरंतरता के बारे में कुरान की आयतों और अहलुल-बैत (अ.स.) की परंपराओं की एक स्वतंत्र अभिव्यक्ति पर शामिल है।
आम तौर पर कुरानिक आयतें एक सफल पारिवारिक जीवन के लिए मानदंड प्रदान करती हैं, और इन मानदंडों को प्राप्त करने के लिए व्यावहारिक और अमली समाधान अहलुल्बैत अ.स. के शब्दों का उपयोग करके ही हो सकता है।
बेशक, यह श्रृंखला इन सभी कौशलों को प्रदान करने की कोशिश नहीं करती है, लेकिन कुछ आवश्यक कौशल को संक्षेप में और उपयोगी रूप से याद करने का इरादा रखती है।
पोस्टर की सामग्री और आयतों का पता
1, वह चीज़ें जो पारस्परिक संबंधों को मजबूत करती है प्रतिबद्धता और बहुत अधिक उम्मीद ना रखना (सूरऐ निसा-128)
2, यद्यपि पुरुष और महिलाएं एक-दूसरे के हम ख़्याल नहीं हैं, फिर भी उनके संबंध माफ़ करने, चश्म पोशी और क्षमा पर आधारित होना चाहिए। (सूरऐ तग़ाबुन -14)
3, प्यार, स्नेह और इश्क़ से भरा घर। (सूरऐ रोम-आयह 21)
4, विश्वसनीयता; अपने पति / पत्नी के रहस्य को कभी प्रकट न करें। (सूरह Baqara-Verse 187)
5, अपने पति / पत्नी से वैसे व्यवहार करें जैसे आप अपने से पसंद करते हैं। (काफी_जिल्द 2_ पृष्ठ 16 9)
6, जितना भी मनुष्य का ईमान कामिल होगा, अपनी पत्नी से उतना ज़ियादा प्यार को ज़ाहिर करेगा। (बहारुलअनवार-जि. 103_ पृष्ठ 228)
7,प्यार और स्नेह वाला परिवार नेक पीढ़ी के उदार का केंद्र हैं। (सूरह रोम, आ. 21: सूरह तहरीम, आ. 6)
8, जो कोई अपने माता-पिता की सराहना व शुक्र न करे भगवान को धन्यवाद नहीं करेगा। (सूरऐ लुक़मान, आ. 14, बिहार, जि. 74, पृष्ठ 77)
9, इस्राफ़ हमारे जीवन में आशीर्वाद कम कर देता है। (सूर आराफ़, आ. 31_ काफी, खंड 4, पृष्ठ 55)
10, तैराकी को अपनी जीवन योजनाओं का एक हिस्सा बनाओ। (केंज़ुल उम्माल, जि. 16, पृष्ठ 443, हदीस, 45340)
11, यात्रा खुशी और कल्याण के लिए सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। (सूरऐ अन्कबूत, आ. 20_ बिहार, जि. 62, पृष्ठ 267)
12, ख़ानादाररी महिलाओं का कर्तव्य नहीं है, बल्कि उनके स्नेह का प्रतीक है। (अल-अमाली शेख सुदूक़, पृष्ठ 411_ सूरऐ रोम, आ. 21)
13, हर चीज़ अपनी जगह पर मुनासिब है, घर को कार्यस्थल से भ्रमित मत करो। (काफ़ी, खंड 3, पृष्ठ 568 _ सूर माऐदा, आ. 8)
14, अपने स्वास्थ्य के लिए अधिक खाने से बचें। (सूरह अल-आराफ़, आ. 31 _ बिहार, जि. 63, पृष्ठ 338)
15, पार्टियों में हम आगंतुक से पहले खाना शुरू करने की कोशिश करें। (सफ़ीनतुल-बिहार जि. 2, पृष्ठ 76, सूरह अल-ज़ारियात, 24-27)
16, बाल पालन-पोषण कक्षा के निर्देश की तरह नहीं है। व्यवहार और भाषण के साथ है। (नहज अल-बलाग़ह, ज्ञान 39 9 _ सूरऐ लुक़मानन, आ. 18)
17. प्रार्थना-वार परिवार दूषित से बहुत दूर है। (अन्कबूत, Verse 45)
 
18, अपनने आचरण और वचनों पर नज़र रहे, अल्लाह हमें देख रहा है। (सूरह अलक़- आ. 14: सूरऐ अनआम, आ. 103)
1 9, हर्ष निर्णय और संदेह जीवन की नींव को कमजोर करते हैं। (सूरह हुजरात, आ. 12 _ बिहार, खंड 77, पृष्ठ 207)
20, कभी-कभी हम आंखों को भूल जाते हैं, और आंखें हमारे रास्ते पर होती हैं। (सूरऐ Asra, आ. 23_ बिहार, खंड 74, पृष्ठ 79)
21, यहां तक ​​कि अगर हम अपने पिता और माता से कोई ग़लती देखें, या कुछ सुनें तो हमें अपमानजनक नहीं होना चाहिए। (सूरह अल-असरा, आ. 23_ काफ़ी, जि. 2 पृष्ठ 158)
22, क्रोध जो नियंत्रिण ना हो, हमारे स्वास्थ्य और हमारे रिश्तों दोनों को नुकसान पहुंचाता है। (कंज़ुल -फवाऐद, जि. 1, पृष्ठ 319_ सूरह आले-इमरान, आ. 134)
23, स्वर्ग वही से शुरू है जहां हम ईश्वर पर भरोसा करते हैं। (सूरह हूद, आ. 23)
24. बच्चा जो कुछ देखता है वही सीखता है, न कि वह जो सुनता है। (मन ला यहज़रुल-फख़ीह, जि. 3, पृष्ठ 483_ सूरऐ निसा, अ. 5)
25, जल्दी निर्णय लेगा, जल्दी से करेगा, और जल्दी खेद होगा। (सूरह अल-अंबिया, आ. 37_ नहज अल-बलाग़ह, उपदेश 150)
26, अपने आज को हाथ से निकलने मत दो, कल देर हो चुकी होगी। (सूरह कहफ़, आ. 23 _ नहज अल-बालाग़ह, उपदेश 64)
27, समस्याओं को हल करने के लिए, अपने कामों में सबसे ऊपर भगवान पर विश्वास रखें। (तलाक अध्याय, आ. 3, तफ़्सीरे मजमउल-बायान)
28, ईश्वर की दया से निराश न हों, भगवान सर्वश्रेष्ठ को सही समय पर करता है। (सूरह यूसुफ़, आ. 87, नहज अल-बलग़ह, पत्र 31)
29, यदि आप एक लंबा जीवन और बहुत रिज़्क़ चाहते हैं, तो अपने माता और पिता के साथ अच्छा करें। (मीज़नुल हिक्मब, हदीस, 22671 _ सूरह असरा, आ. 24)
30, अधिकतर बीमारियां अतिरक्षण और कुपोषण में निहित हैं। अपने स्वास्थ्य के बारे में सावधान रहें। (सूरह ताहा, आ. 81: बिहार, जि. 63, पृष्ठ. 337)
3724839
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: