IQNA

मल्टीमीडिया समूह - संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों के अनुसार, चीन के झिंजियांग मुस्लिम आबादी में से एक मिल्यून, कि अधिक्तम उनमें उइगर और क़जाख़ हैं, "पुनर्वास शिविरों" के एक विशाल नेटवर्क में कैद हैं। इन मुसलमानों के बच्चों को उनके माता-पिता से अलग कर दिया जाता है ताकि कम उम्र से ही पूरी तरह से या लगभग पूर्णकालिक बड़े बोर्डिंग स्कूलों में देखभाल की जा सके।