IQNA

15:55 - September 15, 2019
समाचार आईडी: 3473976
अंतर्राष्ट्रीय समूह- भारतीय नियंत्रण जम्मू और कश्मीर में एक भारतीय चिकित्सक के अनुसार, टेलीफोन लाइनों के कटे होने और आपातकालीन सेवाओं की कमी के कारण पिछले दो महीनों में क्षेत्र में दिल के दौरे से होने वाली मौतों की संख्या में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है।

IQNA की रिपोर्ट  अनातोलिया के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के केंद्र श्रीनगर में एक अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर ने एक भारतीय पत्रिका से बातचीत में कहा: अगस्त और सितंबर में, उन्होंने श्रीनगर में दिल के दौरे के हमलावर रोगियों की संख्या में वृद्धि देखी है इस तरह कि हर दिन 8 से 10 मामले आते हैं जो अभूतपूर्व है।
 
इस पत्रिका में कश्मीरी डॉक्टरों ने यह भी बताया कि न जाने कितने अन्य लोग संचार सुविधाओं और आपातकालीन सेवाओं की कमी के कारण अपने घरों में मर गऐ हैं, जबकि भारत सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने दावा किया है कि 80,000 लैंडलाइन जुड़ा हुआ है, जब कि कश्मीर में ज्यादातर लोगों का कहना है कि लाइनों का उपयोग नहीं कर सकते हैं।
 
यह याद रहे कि 5 अगस्त को, भारत ने जम्मू और कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया, इसके बाद यातायात पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून, टेलीफोन और इंटरनेट लाइनों को डिस्कनेक्ट करना, आदि की घोषणा की जिससे क्षेत्र में बहुत सारी समस्याएं पैदा हो गई और व्यापक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं।
 3842203
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :