IQNA

इमाम अली (अ.स.) कहते हैं: «اتعظوا فیها (ای فی الدنیا) بالذین قالوا: (من اشد منا قوة). حملوا الی قبور هم فلا یدعون رکبانا، و انزلوا الاجداث فلا یدعون ضیفاناً؛:उन लोगों के जीवन के अंजाम से नसीहत लो जो कहते थे (कि हमसे ज्यादा कौन मज़बूत हैं) उन्हें उनकी कब्र पर ले जाया गया बिना सवारी के आमंत्रित किए गऐ और कब्रों में उतारे गऐ बिना इसके कि मेहमान कहे जाऐं"।