IQNA

महातीर मुहम्मद ने घोषणा की:
14:05 - January 20, 2020
समाचार आईडी: 3474371
अंतर्राष्ट्रीय समूह- मलेशियाई प्रधान मंत्री ने मुसलमानों के खिलाफ़ भेदभावपूर्ण कानून को लागू करने के लिए दिल्ली की आलोचना की और कहा कि वह भारत द्वारा ताड़ के तेल की खरीद के बहिष्कार के खिलाफ कोई जवाबी कार्रवाई नहीं करेगा।

IQNA की रिपोर्ट रायटर के अनुसार, भारत, खाद्य तेल के दुनिया के सबसे बड़े खरीदार के रूप में, हाल ही में ताड़ के तेल के आयात, कि मलेशिया दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है, पर प्रतिबंध लगा दिया। यह कदम देश में मुसलमानों के खिलाफ़ भारत सरकार की नीतियों पर मलेशियाई प्रधान मंत्री द्वारा आलोचना के बीच उठाया गया है।
 
महाथिर मोहम्मद ने आज संवाददाताओं से कहा, "हम (आर्थिक रूप से) हम इससे बहुत छोटे हैं कि भारत के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करें" हमें इस समस्या का मुकाबला करने के तरीके खोजने होंगे।
 
इसी समय, उन्होंने एक बार फिर नए भारतीय नागरिकता कानून की आलोचना की और इसे पूरी तरह से अनुचित बताया।
 
मलेशिया के 94 वर्षीय प्रधानमंत्री ने नए नागरिकता कानून और कश्मीर में उसकी कार्वाइयों सहित भारत की इस्लामी विरोधी नीतियों की बार-बार आलोचना की है।
 
भारत पिछले पांच वर्षों से मलेशिया का सबसे बड़ा निर्यात ताड़ का तेल बाजार रहा है, और प्रतिबंधों से नए बाजारों की तलाश में मलेशिया के लिए एक बड़ी चुनौती है।
 
मलेशिया में रहने वाले भारतीय मुस्लिम आलोचक ज़ाकिर नाइक को सौंपने से मलेशिया के इंकार से भारत भी इसी तरह असंतुष्ट है।
3872894
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :