IQNA

14:36 - February 18, 2020
समाचार आईडी: 3474464
तेहरान (IQNA) संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने पाकिस्तानी राजधानी में अफ़गान शरणार्थियों की स्थिति पर सम्मेलन में कुरान से एक आयत के अंग्रेजी अनुवाद का उल्लेख किया और दर्शकों को आश्चर्यचकित कर दिया।

"सद्ये अल-बलद" के अनुसार,पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में शरण चाहने वालों के सम्मेलन में भाग लेने वाले, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गोएदर के कुरान, की एक आयत के उल्लेख से चकित रह गऐ।
 
गुटेरेस ने अपने भाषण में छठे सूरह मुबारक तौबह की आयत के अंग्रेजी अनुवाद का उल्लेख किया। जहां परमेश्वर ने कहा, «وَإِنْ أَحَدٌ مِنَ الْمُشْرِكِينَ اسْتَجَارَكَ فَأَجِرْهُ حَتَّى يَسْمَعَ كَلَامَ اللَّهِ ثُمَّ أَبْلِغْهُ مَأْمَنَهُ ذَلِكَ بِأَنَّهُمْ قَوْمٌ لَا يَعْلَمُونَ؛" अगर मुश्रिकों में से कोई एक तुमसे शरण चाहे तो उसको शरण दो ता कि परमेश्वर के वचन को सुने फिर उसे उसकी सुरक्षित जगह पर पंहुचा दो, क्योंकि वे नादान लोग हैं। ”
 
उन्होंने इस आयत को समझाया: "यह आयत शरणार्थियों के लिए सहिष्णुता का एक उदाहरण है और वर्ष 1951. में शरणार्थियों की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र के समझौते से सैकड़ों साल पहले नाज़िल हुई।
 
गुटेरेस ने अफगान शरणार्थियों के बारे में कहाः अफगानिस्तान में शांति की आवश्यकता है ताकि अफगान शरणार्थी अपने देश लौट सकें,पाकिस्तान लग भग 20 साल से है दुनिया भर में शरणार्थियों की सबसे बड़ी संख्या को क़ुबूल किया है।
 
संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, अब तक पाकिस्तान में 1.7 मिलियन अफ़गान शरणार्थी पंजीकृत हैं और अन्य दस लाख ईरान में हैं।
 
याद रहे कि अफ़गान शरणार्थियों पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन, पाकिस्तानी सरकार की मेज़बानी और इस्लामी गणतंत्र ईरान सहित 30 से अधिक देशों की उपस्थित के साथ सोमवार को इस्लामाबाद, पाकिस्तान में शुरू किया गया।
3879581
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :