IQNA

15:37 - April 19, 2020
समाचार आईडी: 3474662
तेहरान (IQNA),रमज़ान की पूर्व संध्या पर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस महीने के दौरान कोरोना के समय मुसलमानों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए सिफारिशें जारी की हैं।

मिस्र की समाचार एजेंसी अल्यौम के अनुसार, रमज़ान के दौरान कोरोना फैलने की स्थिति में अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की सिफारिशें इस प्रकार हैं: हर समय लोगों के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी का निरीक्षण करने के लिए प्रशिक्षण;इस महीने की धार्मिक व सांस्कृतिक बधाई सांकेतिक भाषा और हाथों को हिला और उन्हें सीने पर रख कर इस तरह दें, ताकि उसमें कोई संपर्क या स्पर्श न हो  और रमजान की गतिविधियों जैसे मनोरंजक और व्यावसायिक स्थानों से संबंधित स्थानों में बड़ी संख्या में लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया जाए।
 
प्रार्थना, तीर्थयात्रा, समूह इफ्तार और यहां तक ​​कि यथासंभव खुली हवा में गतिविधियों को आयोजित करने के लिए किसी भी समारोह से बचें; कार्यक्रम स्थल और एयरफ्लो का उचित वेंटिलेशन; कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए टाइम को छोटा करें और बेहतर है कि अनुष्ठान और गतिविधियाँ बड़े समारोहों के बजाय छोटे समूहों में आयोजित किए जाऐं।
 
इन सिफारिशों में शामिल हैं, वज़ूख़ानों और सभाओं में लोगों के बीच की दूरी को ध्यान में रखना और नमाज़ अदा करने के लिए विशेष स्थानों का निर्धारण करना, अपने जूते उतारने के दौरान आवश्यक दूरी का अवलोकन करना, सभा स्थल में लोगों के प्रवेश और निकास को नियंत्रित करना और एक विशेष कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोगों के बीच कोरोना की पहचान करने के लिए आसान उपाय करना।
 
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के दिनों में रोज़ा रखने के बारे में कहा, "उपवास और  कोविद 19 के विकास के जोखिम पर कोई अध्ययन मौजूद नहीं है और स्वस्थ और सक्षम लोगों को रमज़ान के दौरान पिछले वर्षों की तरह उपवास करना चाहिए।
 
कोरोनरी रोग के रोगियों को भी उपवास के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श और धार्मिक इजाज़त प्राप्त करना चाहिए  जैसा कि अन्य बीमारियों में आम है।
3892551
 
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: