IQNA

15:33 - August 08, 2020
समाचार आईडी: 3475031
तेहरान (IQNA)अहलेबैत (अ.स) के तीर्थयात्रियों और प्रशंसकों, जो आम तौर पर नजफ़ अशरफ़ के पुराने हिस्से और हरम के आस-पास के इलाकों के निवासी हैं, ने इमाम अली (अ.स) के पवित्र रौज़े में ईद ग़दीर ख़ुम के उत्सव को हाइजीनिक प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मनाया।

"अल-नबा" समाचार वेबसाइट के हवाले से, अलवी हरम के तीर्थयात्री इस पवित्र बारगाह में कल रात से इमामत और विलायत के जश्न मनाने के लिए हाइजीनिक सिद्धांतों और प्रोटोकॉल के पालन के साथ इस पवित्र दरबार में मौजूद हैं और इस शुभ अवसर पर खुशी मनाने के अलावा कोरोना महामारी आपदा से बचाव के लिऐ प्रार्थना की।
 
अहलेबैत (अ.स) के अनुयायियों ने इस अवसर को हर साल लाखों लोगों के साथ मनाने हैं, लेकिन इस साल, कोरोना के प्रसार के कारण, यह समारोह तीर्थयात्रियों की कम संख्या में उपस्थिति के साथ आयोजित किया जा रहा है, और ईद ग़दीर समारोह आम तौर पर साइबरस्पेस में और सामाजिक नेटवर्क का उपयोग करते हुऐ आयोजित हो रहे हैं।
 
तीर्थ यात्रियों के बीच धन्य उपहारों का वितरण
 
दूसरी ओर, अस्तान अलवी प्रशासनिक परिषद के एक सदस्य, "फ़ातेह अल-करमानी" ने कहा: "ईद ग़दीर के अवसर पर, अलवी बारगाह की तस्वीरें और मिठाइयों और चॉकलेटों को एक आशीर्वाद और स्मारक के रूप में तीर्थयात्रियों के बीच वितरित किया जाएगा।"
 
उन्होंने कहा: कोरोना रोग के प्रसार को रोकने के लिए, प्रतिज्ञा कार्यालय के सेवक इन उपहारों को पैक करते समय सभी हाइजीनिक बिंदुओं का निरीक्षण करते हैं।
 
कुछ दिनों पहले से, अलवी के पवित्र रौज़े ने अलवी हरम और आसपास की सड़कों को सजाने और गुलपोशी तथा तख्तियों से इस मूल्यवान अवसर को मनाया और इन में मुसलमानों के लिए इस दिन के महत्व और महानता को समझाया।
 
नजफ़ अशरफ़ के गवर्नर लुइ अलयासरी ने पहले घोषणा की थी कि कोरोना वायरस के फैलने के कारण प्रांत के बाहर से तीर्थयात्रियों को स्वीकार नहीं किया जाएगा।
3915381
 
 
 
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: