IQNA

18:02 - July 21, 2021
समाचार आईडी: 3476183
तेहरान (IQNA) टोक्यो बास्केटबॉल ओलंपिक टूर्नामेंट में न्याय करने वाली मिस्र की एक पर्दादार रेफरी ने इस क्षेत्र में ओलंपिक का इतिहास रचेग़ी।

एकना ने  आधुनिक घाना के अनुसार बताया कि, सारा जमाल का अपने करियर में बड़ी सफलता का इतिहास रहा है। एक सिविल इंजीनियर, वह ओलंपिक में इतिहास बनाने के कगार पर है।
मिस्र की बास्केटबॉल रेफरी हिजाब पहनने वाली पहली मुस्लिम महिला होंगी जो ओलंपिक बास्केटबॉल खेलों को जज करेंगी।
सारा जमाल ओलंपिक में थ्री-मैन बास्केटबॉल को जज करने वाली पहली अरब-अफ्रीकी महिला भी होंगी।
उनका कहना है कि ओलंपिक में जाना उनके लिए एक सपना रहा है। उनके मुताबिक, कोरोना महामारी का मतलब था कि खेलों का आयोजन भी निश्चित नहीं था.
उन्होंने आगे कहा: कि "हम इस बात को लेकर बहुत चिंतित थे कि ऐसा होगा या नहीं; लेकिन अंत में सपना सच हो गया।
उन्होंने जारी रखते हुए कहा:कि "यह एक बड़ी जिम्मेदारी है कि मैं न केवल अपने देश बल्कि अफ्रीका और अरब दुनिया का भी प्रतिनिधित्व करती हूं।"यह आसान नहीं है, लेकिन मैं उनके लिए एक अच्छा प्रतिनिधि बनना चाहती हूं। इसलिए मैं ऐसा करने की पूरी कोशिश करती हूं।
2017  में कानून बदलने के बाद, सारा अंतरराष्ट्रीय खेलों में हिजाब पहनने वाली वर्ल्ड बास्केटबॉल फेडरेशन (FIBA) की पहली रेफरी हैं।
3985507
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: