IQNA

18:37 - June 07, 2015
समाचार आईडी: 3311875
अंतर्राष्ट्रीय समूह: एक नए अध्ययन के परिणाम से पता चलता है कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में शियाओं के खिलाफ हिंसा बढ़ रही है और अधिक से अधिक ऐक हजार 900 शिया मुस्लिमों की हत्या की गई है.

अंतरराष्ट्रीय कुरान समाचार एजेंसी (IQNA)प्रेस टीवी के अनुसार, यह अध्ययन "जिनह" अनुसंधान संस्थान द्वारा इस्लामाबाद में किया गया था, 2012 और 2015 में पाकिस्तान में शियाओं के लक्षित हत्याओं के अभूतपूर्व स्तर का पता चला.

शोध के अनुसार, पिछले 3 वर्षों में लग भग 1900शिया मुसलमानों को लक्षित हत्या और बम विस्फोट, के ज़रये पाकिस्तान में मारा जा चुका है.
इस अध्धयन के परिणामों से पता चलता है पेशावर, रावलपिंडी और दक्षिण पंजाब में शियाओं पर हमले की वृद्धि हुई है.
सलमान जैदी, जिनह संस्थान के ऐक सदस्य ने प्रेस टीवी के संवाददाता से कहाः पाकिस्तान के कुछ हिस्सों में विशेष रूप से क्वेटा, कराची और देश के उत्तर में हिंसा में वृद्धि होने के साथ शिया मुसलमानों को बहुत दिनों से घेरे में लिए हुए हैं.
उन्होंने कहाः कि पाकिस्तान लंबे समय से युद्ध और हिंसा का मैदान बना हुआ है और देश में आतंकवादी गुटों की कार्रवाई के दृश्य आश्चर्य जनक नहीं हैं और कुछ मामलों में 'विदेशी हाथ' आतंकवादियों के लक्षित हत्याओं के कार्यान्वयन में मदद करती हैं.
पाकिस्तान में शियाओं पर बार बार हमले अंतरराष्ट्रीय संगठनों की चिंता का विषय बन गया है। जब कि पाकिस्तान में उदारवादी सुन्नी समूहों ने इन हमलों को देश के खिलाफ ऐक षड्यंत्र के तौर पर वर्णन किया है.
पाकिस्तान के 180 मिलियन लोगों में शियाओं की एक तिहाई संख्या है.
पाकिस्तान को अमेरिका के साथ गठबंधन आतंक से युद्ध के नाम पर तथाकथित शामिल होने के कारण सुरक्षा चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है 2001 से हजारों पाकिस्तानियों को बम विस्फोट और आतंकवादी हमलों में देश भर में मारा गया है और लाखों विस्थापित हो गऐ हैं.
3311475

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: