IQNA

अरब मीडिया में ईरानी चुनावों की प्रतिक्रिया पर IQNA की रिपोर्ट;
17:30 - May 20, 2017
समाचार आईडी: 3471457
अंतरराष्ट्रीय टीमः ईरान में बारहवें राष्ट्रपति चुनाव में ईरानी राष्ट्र की मिल्यूनी और महाकाव्य उपस्थिति विशेष रूप से महिलाओं की भागीदारी को क्षेत्रीय अरबी मीडिया विशेष रूप मिस्र, लेबनान और इराक़ की मीडिया की ओर से कवर किया गया।

वीर लोगों की उपस्थित से लेकर महिलाओं की पूर्ण भागीदारी तक

अंतर्राष्ट्रीय कुरान समाचार ऐजेंसी(IQNA) ईरान में बारहवें राष्ट्रपति चुनाव और शहर और गांव के पांचवें नगर परिषदों के चुनाव में ईरानी राष्ट्र की मिल्यूनी और महाकाव्य उपस्थिति इस बात का कारण बनी कि क्षेत्रीय अरबी मीडिया इस महान तथ्य को क़ुबूल करे और ईरान के वीर लोगों ब्यापक पैमाने पर मौजूदगी को कवर करे।

चुनाव में महिलाओं की पूर्ण भागीदारी

समाचार "अलयौमुस्साबेअ" मिस्र, इस्लामी गण्यराज्य ईरान के राष्ट्रपति चुनाव से संबंधित समाचार कवरेज करने के साथ, इन चुनाव में महिलाओं की व्यापक उपस्थिति पर ध्यान दिया और लिखाः शुक्रवार चुनाव में महिलाओं की भागीदारी भावुक और व्यापक तौर पर थी।

इस मिस्री मीडिया ने महिलाओं की उपस्थिति की तस्वीरें प्रकाशित करने के साथ लिखा हैः ईरान के आंतरिक मंत्रालय के अनुसार 40 मिलियन से अधिक लोगों ने इस्लामी गण्यराज्य ईरान के राष्ट्रपति चुनाव में भाग लिया।

बार बार मतदान के लिए समय सीमा बढ़ाई गई

समाचार साईट, "अल-जदीद" मिस्र ने भी चुनाव के समय बढ़ाऐ की इशारा करते हुऐ लिखाःदोहराया लिखा जाएगा नवीनीकृत करने के लिए कहा: उद्देश्य टिप्पणियों से पता चला है कि तेहरान के ज्यादातर मतदाताओं का "हसन रूहानी" की ओर झुकाव है छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में उनके प्रतिद्वंद्वी "इब्राहिम रईसी" आगे निकल रहे हैं।

ईरान में लोकतंत्र का प्रभाव

अल मनार, अल एहेद और अल-Mayadeen सहित लेबनानी मीडिया ने भी ईरान के राष्ट्रपति चुनाव के मिनट मिनट के कवरेज के साथ, लोगों की व्यापक उपस्थिति को लोकतंत्र का एक शो बताया और कहाःयह लोगों की व्यापक उपस्थिति से पता चलता है कि ईरानी लोग सत्ता के चलाने में प्रभाव रखते हैं।

Mayadeen ने बताया कि 70% से अधिक की भागीदारी है, वर्तमान चुनाव को ईरान की इस्लामी क्रांति की सफलता से लेकर अब तक का सबसे उत्कट चुनाव मूल्यांकन किया है।

ईरानी धार्मिक राजधानी से अल जज़ीरा के संवाददाता की टिप्पणियां

समाचार साईट "अल जज़ीरा नेट," ने भी सुप्रीम नेता की मतदान करते हुऐ तस्वीर प्रकाशित करने के साथ लिखा है: "Noureddine Aldghyr" इस मीडिया के संवाददाता ने शहर Qom में जो कि ईरानी धार्मिक राजधानी के रूप में है, चुनाव के दौरान लोगों की उपस्थिति बहुत व्यापक और असामान्य है।

"सीएनएन अरबी' ने भी जो लगातार इस्लामी गणराज्य ईरान के लिए शत्रुतापूर्ण रवैया रखता है, मजबूर होकर इस व्यापक उपस्थिति के सामने क़बूली होंठ खोले और ईरान के आंतरिक मंत्रालय द्वारा बार-बार राष्ट्रपति चुनाव को नवीनीकृत किऐ जाने की ओर इशारा करते हुऐ चुनावों में ईरानी वीर लोगों की उपस्थिति को हमासी और विशेषाधिकार से वर्णन किया।

"नुजूम मिस्रीयह", "मिस्रावी", "दोत्त मिस्र", "गेट्स अल-फज्र" और अन्य मिस्री मीडिया हैं जो चुनाव में ईरानी राष्ट्र के विशाल और महाकाव्य उपस्थिति को कवर किया।

न्यूज नेटवर्क "इरम न्यूज़»अमारात ने भी ऐक मतदान क्षेत्र से लोगों की उपस्थित की तस्वीरें प्रकाशित करते हुऐ लिखाः 56 मिल्युन जो चुनावों में मतदान का हक़ रखते हैं में 40मिल्युन से अधिक लोगों ने ईरान के बारहवें राष्ट्रपति चुनाव में भाग लिया और अपनी मतपपेटियों में बंद की।

गर्मजोशी से स्वागत वाली एक प्रतियोगिता

समाचार"Albdyl" मिस्र ने भी "गर्मजोशी से स्वागत वाली प्रतियोगिता" शीर्षक को प्रकाशित करन के साथ लिखा कि दुनिया वाले, ईरान में राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों का इंतज़ार कर रहे हैं क्यों कि "हसन रूहानी" या "इब्राहिम रईसी" की जीत, ईरान की क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय राजनीति पर एक बड़ा प्रभाव डालेगी।

इराक़ी मीडिया में चुनाव की लंबी लाइनों की तस्वीरें

समाचार एजेंसी ब्रासा, समाचार एजेंस नून "अल-FORAT " समाचार साइट और..... सहित कुछ इराकी मीडिया ने लोगों की लंबी लाइनों की छवियों को प्रकाशित करने के साथ जो मतदान लाइन में खड़े थे इस चुनाव में 40 मिलियन से अधिक लोगों की उपस्थिति पर ध्यान दिया और लिखा है: जबकि चुनाव में मतदान का कानूनी समय समाप्त हो गया था, लेकिन फिर भी कई लोग कतार में खड़े थे।

इसी तरह, "अल-FORAT समाचार"समाचार एजेंसी के अनुसार, "Iraj मस्जिदी", इराक में ईरान के राजदूत ने घोषणा की कि इराक में रहने वाले ईरानियों व ईरानी तीर्थयात्रियों के व्यापक रूप से स्वागत के कारण कर्बला में मतदान के लिए दो घंटा और बढ़ा दिया गया।

मीडिया के अनुसार, बगदाद, कर्बला, नजफ, बसरा, सलाहुद्दीन, Sulaimaniya और एरबिल के प्रांतों में 23 मतदान केंद्रों की स्थापना की गई थी।

ईरान में लोकतंत्र के जश्न पर क्षेत्रयी भाड़े के मीडिया की प्रतिक्रिया

हालांकि, इस क्षेत्र में सऊदी और बहरीनी मीडिया सहित कुछ भाड़े की मीडिया, कि जिनके नागरिकों को सबसे स्पष्ट नागरिक अधिकारों के सिद्धांतों से भी लाभ नहीं मिलता और देश की जनता का सरकार के रोटेशन में किसी तरह का भी प्रभाव नहीं है कोशिश की है कि इस चुनाव की दिशा में एक नकारात्मक रुख पेश करें ।

इसी तरह, यह मीडिया कि इस्लामी गणराज्य ईरान में लोकतंत्र के इस महान शो के प्रददर्शन से बहुत परेशान थे प्रयास किया कि "डोनाल्ड ट्रम्प" अमेरिका के राष्ट्रपति,की इस देश के लिए यात्रा को दिखा कर देश के दर्शकों विशेष रूप से युवा लोगों के मन को इस महान घटना से अनजान और अमेरिका के राष्ट्रपति की यात्रा को महत्वपूर्ण मुद्दा बना कर पेश करें।

उन मीडियाओं में जो कि इस महान लोकतंत्र और जनता की धार्मिक लीडरशिप से अपनी आंखें बंद करली हैं, समाचार चैनल "अल Arabiya" सऊदी था कि जो इस्लामी गणराज्य ईरान के कुछ विरोधियों और मुनाफ़िक़ों के साथ साक्षात्कार को प्रकाशित करके एक दिखावा के रूप में चुनाव का वर्णन किया।

हालांकि, ईरान में राष्ट्रपति चुनाव में महाकाव्य और मिल्युन लोगों की उपस्थित सबब बनी क्षेत्र के कुछ अरबी भाषा और निष्पक्ष मीडिया लोकतंत्र के इस भव्य प्रदर्शन को कवर करें जिसमें कुवैत समाचार एजेंसी, न्यूज नेटवर्क "Hamrin समाचार", समाचार नेटवर्क "स्काई न्यूज" अमीरात, "अल अरब समाचार »क़तर, इलेक्ट्रॉनिक समाचार पत्र" Alvyam "क्षेत्रीय समाचार पत्र" Asharq अल Awsat "और अन्य अरबी मीडिया थे जिन्हों ने चुनाव से संबंधित समाचार और चित्रों को कवर किया।

3601233

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :