IQNA

15:57 - June 03, 2017
समाचार आईडी: 3471495
इंटरनेशनल ग्रुप: म्यांमारी अधिकारियों की ओर से तीन रोहिंग्याई मुस्लिमों पर रमज़ान महीने में सड़क पर नमाज़ क़ायम करने के कारण स्थिरता और सरकारी कानून के चेलेंज का आरोप लगाया गया।

रोहिंग्याई नमाज़ियों के साथ म्यांमार पुलिस का संघर्ष

अंतरराष्ट्रीय कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) के लिए समाचार «मुस्लिम प्रेस»के अनुसार,यह म्यांमार के मुसलमानों ने कि जिनके इबादत स्थलों को बौद्ध चरमपंथियों द्वारा यांगून शहर में बंद कर दिया गया है रमज़ान महीने में सड़क पर नमाज़ क़ायम करने की कार्वाई की।

उनके दो इस्लामी स्कूलों को जिन्हें प्रार्थना और इबदी कामों के लिऐ प्रयोग किया जाता था पिछले वसंत में बौद्ध चरमपंथियों द्वारा अवैध तरीक़े पर नमाज़ क़ायम करने के आरोप में बंद कर दिया गया है।

ज़ा मेंत लात, एक स्थानीय मुस्लिम नेता ने कहाः कि यह महीना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। हम दशकों से इन स्कूलों को प्रार्थना के लिए इस्तेमाल किया करते थे।

यांगून के स्थानीय अधिकारियों ने एक बयान जारी करके कहा कि मुस्लिम आबादी वाले पूर्व यांगून में नमाज़ का क़ाययमम करना स्थिरता और कानून के शासन को चेललेंज दे रहा है।

बौद्ध बहुल म्यांमार रोहिंग्याई मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ भेदभाव का एक विस्तृत इतिहास रखता है।

3605910

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: