IQNA

17:08 - August 12, 2017
समाचार आईडी: 3471706
अंतरराष्ट्रीय टीम: ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना के इस्लामिक सेंटर इमाम अली (अ.स) ने एक बयान जारी करके दाइश और तालिबान के हाथों "मिर्ज़ा ओलेंग" अफगानिस्तान में शियाओं की दर्दनाक हत्या और महान तबाही की निंदा की।

वियना इस्लामिक सेंटर ने "मिर्ज़ा ओलेंग"घटना की निंदा की

अंतरराष्ट्रीय कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) वियना इस्लामिक सेंटर इमाम अली (अ.स) केबल चैनल द्वारा उद्धृत, इस बयान में जो कल 11 अगस्त को जारी किया गया, इस तरह आया है:

انا لله و انا اليه راجعون

अफगानिस्तान मिर्ज़ा ओलेंग में बड़े महान और दर्दनाक घटना की निंदा करते हैं

सांप्रदायिक और उग्रवादी और takfiri कारणों से प्रेरित काबुल और हेरात में शियाओं के खिलाफ पिछले दो साल के घातक अपराध अफगानिस्तान के मिर्ज़ा ओलेंग में मानवीय और मानव त्रासदी पर समाप्त हो गया है और दुनिया भर के स्वतंत्र लोगों के दिलों को दर्द से भर दिया है।

अफगानिस्तान के पीड़ित शिया बाहर से संबंधित आतंकवादियों के शिकार हुऐ हैं और एक सौ पचास से अधिक परिवार, तालिबान और दाइश आतंकवादी समूह के शिकार हुऐ, और उनके आदमियों पर गोलियों की बौछार और महिलाओं और लड़कियों को क्रूर कार्रवाई में बंदी बना लिया गया है।

इस दर्दनाक व अज़ीम घटना को हज़रत महदी (अज) और सभी स्वतंत्रता पसंद लोगों विशेष रूप से दुनिया के शियों और ख़ुसूसन अफ़गानी लोगों को संवेदना और पुरसा देते हैं हमे पूरी आशा है कि विश्व के सभी लोगआवश्यक प्रतिक्रिया ब्यक्त करने के साथ मुसलमानों विशेष रूप से शियाओं के खिलाफ, मानवता के अत्याचारों को समाप्त करने के लिए अग्रणी होंगे

इस्लामिक सेंटर इमाम अली (अ.स) वियना

उल्लेख के लायक है कि 5 अगस्त को अफगानिस्तान के सर पुल प्रांत में मिर्ज़ा ओलेंग की एक शिया जिले पर तालिबान ने हमला करके 50 नागरिकों को घर से बाहर लाऐ, और एक समूह के रूप में गोलियों से भून दिया।

इस लड़ाई में तालिबान उग्रवादियों और दाइश के लोगों ने सामरिक क्षेत्र, "मिर्ज़ा ओलेंग" सर पुल प्रांत को सरकारी बलों के साथ 48 घंटे हुई मुठभेड़ के बाद नियंत्रण में ले लिया।

3629196

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: