IQNA

15:38 - September 08, 2017
समाचार आईडी: 3471789
इंटरनेशनल समूह: ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहाः कि ब्रिटिश सरकार "आंग सान सूची" म्यांमार की प्रधानमंत्री की प्रसन्नता हासिल करने के उद्देश्य से, रोहिंग्या मुसलमानों की त्रासदी को अनदेखा कर रही है।

रोहिंग्या मुस्लिम त्रासदी पर ब्रिटिश अज्ञानता की आलोचना

अंतरराष्ट्रीय कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) ख़बर साइट amlalommah.net द्वारा उद्धृत, ह्यूमन राइट्स वॉच ने, ब्रिटिश सरकार "आंग सान सूची' म्यांमार की प्रधानमंत्री के साथ ऐकजुटता दिखाने के लिए, के रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यक की हत्या का आरोप लगाया।

इस मानवाधिकार संगठन ने कहाः कि ब्रिटिश सरकार ने म्यांमार सेना द्वारा राख़ीन राज्य में रोहगिंया मुस्लिमों के खिलाफ किए गए क्रूर अपराधों की उपेक्षा की और इन भयंकर अपराधों को नजरअंदाज कर दिया है।

यूनाइटेड किंगडम में ह्यूमन राइट्स के निदेशक डेविड मीफ़ाम ने कहा: 1991 में नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाली आंग सान सूची, ने अब तक रोहंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यक के खिलाफ सेना के क्रूर अपराधों की निंदा नहीं की है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने ब्रिटिश सरकार और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से कहाः कि म्यांमार सरकार को इस संकट के कारणों का पता लगाने और एक मिल्युन से अधिक रोहंग्या मुस्लिमों को नागरिकता प्रदान करने के लिए दबाव डालें।

3639709

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :