IQNA

13:30 - May 27, 2019
समाचार आईडी: 3473623
अंतरराष्ट्रीय समूह-मुत्तक़ीन के मौला इमाम अली (अ.स.) की शहादत की रात और क़द्र रातों की दूसरी रात में अलवी बारगाह इराक़ के विभिन्न प्रांतों और दुनिया के देशों के तीर्थयात्रियों की एक बड़ी संख्या का गवाह रहा।

IQNA की रिपोर्ट आस्ताने अलवी की सूचना बुलेटिन के अनुसार, इमाम अली (अ.स.) का पवित्र रौज़ा पिछली रात 26 मई मुत्तक़ीन के मौला इमाम अली (अ.स.) की शहादत और महान रातों की दूसरी रात के मौक़े पर तीर्थयात्रियों की महान भीड़ का गवाह बना जिन्हों ने इराक़ के विभिन्न प्रांतों और दुनिया के कुछ देशों से अपने को नजफ़ पंहुचाया था ता कि इस आध्यात्मिक कार्यक्रम में शामिल हों।
शोक समूहों ने भी इमाम अली (अ.स) के पवित्र रौज़े के सहन में उपस्थित होकर शोक और अज़ादारी समारोह में भाग लिया।
अल-सोमरिया न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक़,अली हुसैन अब्दुल अमीर, आवास मंत्रालय, पुनर्निर्माण और इराक़ के नगर पालिकाओं के महानिदेशक, ने एक बयान जारी करते हुए कहा: नजफ़ नगरपालिका कर्मचारी इमाम अली (अ.स) की शहादत की वर्षगांठ में शामिल होने के लिए नजफ़ अशरफ़ प्रांत में आने वाले 3 मिलियन से अधिक तीर्थयात्रियों की सेवा में हैं।
नजफ़ महापौर विसाम साजत नासिर ने यह भी कहाः कि नजफ़ नगरपालिका ने एक सेवा योजना का मसौदा तैयार करके शहर को 4 अक्षों में विभाजित किया और सफ़ाई के लिए 880 कार्यकर्ता जिम्मेदार हैं।
उन्होंने शहर के धार्मिक, वैज्ञानिक और पर्यटन की स्थिति के अनुरूप अमीरुल-मोमनीन (अ.स) के तीर्थयात्रियों को सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करने के लिए निरंतर सेवा प्रयासों की आवश्यकता पर जोर दिया।
3814999
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :