IQNA

14:21 - December 08, 2019
समाचार आईडी: 3474223
अंतर्राष्ट्रीय समूह- बोमिपुल अदोलियादह, थाईलैंड के नवें राजा थे जिन्होंने वर्ष 1968 में थाई में क़ुरान के अनुवाद का आदेश जारी किया, उन्हों ने मुसलमानों की आस्मानी किताब का सुंदर वर्णन किया है।

IQNA की रिपोर्ट, बैंकॉक में ईरानी सांस्कृतिक परामर्श के हवाले से, थाईलैंड के स्वर्गीय राजा भूमिबोल अदुल्यादेज का जन्मदिन 5 दिसंबर को आधिकारिक रूप से बैंकॉक में फादर्स डे के रूप में मनाया जाता है। थाई जनता और मुस्लिम अल्पसंख्यक में उनका बहुत मूल्यवान स्थान है।
 
इस बौद्ध सम्राट ने वर्ष 1968 में कुरान का थाई में अनुवाद करने का आदेश दिया, और वर्ष 1400 AH में पैगंबर (स.व.)के जन्म के उपलक्ष्य में, इसका अनावरण किया गया और उसे देश के मुस्लिम समुदाय को दान दिया गया। यह अनुवाद अभी भी इस देश में कुरान का एकमात्र आधिकारिक अनुवाद है।
 
थाईलैंड के नवें राजा ने कुरान और इस्लाम पर टिप्पणी की है: “मुसलमानों की पुस्तक कुरान में मूल्यवान शरीअत और परंपराएं हैं। मुसलमानों की पवित्र पुस्तक जीवन के पैटर्न (मनुष्य के लिए) को चित्रित करती है जो मानवीय मूल्यों को बौद्धिक और व्यवहारिक रूप से बढ़ावा देती है। इसलिए जो कोई भी कुरान और उसके गहरे अर्थों को जानने और इसके साथ अन्य विज्ञानों को सीखने का प्रयास करता है, वह निश्चित रूप से समाज के सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए एक पूर्ण मानव उपयोगी बन जाएगा। "
 
थाई राजाओं की कड़ी में बोमिपुल अदोलीदेह को लोगों द्वारा बहुत सम्मान दिया गया था और यह समाज के सभी वर्गों के लिए बहुत बड़ी सेवा करते थे। 13 अक्टूबर 2016 को आठ साल की 89 उम्र में उसकी मृत्यु हो गई।
 
पोशीदा न रहे कि थाईलैंड में सम्राट का मर्तबा बौद्ध धर्म के पवित्र पहलू के साथ जुड़ा हुआ है, और राजा ने पारंपरिक रूप से अनुष्ठानों और रस्मों के अभ्यास पर विशेष जोर दिया है।
 3862577
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :