IQNA

13:49 - January 22, 2020
समाचार आईडी: 3474379
अंतर्राष्ट्रीय समूह -जापान में ईरानी सांस्कृतिक परामर्श के लिए एक संदेश में, शिगुनेबु मारियामा ने कहा: सरदार सुलेमानी की शहादत एक अमानवीय और आतंकवादी कार्य है।
जापान में ईरानी सांस्कृतिक व इस्लामी संबंद्ध संगठन के हवाले से IQNA की रिपोर्ट,जापानी कलाकार और जापान के गुएनन एसोसिएशन ऑफ आर्टिस्ट्स के पूर्व प्रमुख शिगुनेबु मारियामा ने मेजर जनरल क़ासिम सुलेमानी की शहादत के मौके पर जापान में ईरानी सांस्कृतिक सलाहकारों को दिए संदेश में हा।वर्ष 2019 ईरान-जापान संबंधों की 90 वीं वर्षगांठ का साल था और मूल्यवान पुस्तक, "4700 माइल ऑफ आर्ट, ईरान-जापान कम्युनिकेशन का पुल," ईरानी सांस्कृतिक सलाहकार हुसैन देवसालार के प्रयासों से जापान में प्रकाशित हुई जो दो महान देशों के प्रमुख कलाकारों और कवियों के कामों का एक संग्रह है।
 
उन्होंने आगे कहा कि "4700 माइल ऑफ आर्ट, ईरान और जापान के बीच का पुल" पुस्तक दोनों देशों के बीच लंबे समय से चली आ रही ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंधों का प्रतीक है।
 
इस जापानी कलाकार ने कहा: जब मैंने इस पुस्तक में समकालीन ईरानी कवियों के पृष्ठ पढ़ रहा था, तो यह बहुत दुखद और दयनीय समाचार मिला कि कमांडर सुलेमानी एक अमानवीय और आतंकवादी घटना में मारे गए, जबकि अमेरिकी राष्ट्रपतियों हमेशा से दुनिया भर के देशों को बताया कि अमेरिका आतंकवादियों के साथ युद्ध में है, लेकिन यह कार्वाई बिल्कुल विपरीत है और स्वीकार्य नहीं है।
 
शिगुनेबु मारियामा ने जोर देकर कहाः में एक जापानी नागरिक के रूप, जो पहले ईरान में चित्रकला प्रदर्शनियां आयोजित कर चुका है और मैं खुद को सभी ईरानियों का मित्र मानता हूं, लेफ्टिनेंट जनरल क़ासिम सुलेमानी की शहादत को जो मध्य पूर्व की सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण थी और इस बहुमूल्य उद्देश्य के लिए उन्हों ने जीवन के अंत तक काम किया है, संवेदना ब्यक्त करता हूं।
3873453
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :