IQNA

17:23 - June 05, 2020
समाचार आईडी: 3474813
तेहरान (IQNA) यमनी उलेमा एसोसिएशन ने अल्लामा सैय्यद हुसैन बिन मजुद्दीन बिन मुहम्मद बिन मंसूर अल-मुइदी की मृत्यु पर इस्लामिक उम्माह के लिए संवेदना व्यक्त किया है।

इकना ने (ansarollah.com)  एजेंसी के अनुसार बताया  कि यमनी उलेमा एसोसिएशन द्वारा जारी एक बयान, जिसे कल, 5 जून को प्रकाशित किया गया था, उसमें लिखा था कि: कि अल्लामा सैय्यद हुसैन बिन मजुद्दीन बिन मुहम्मद बिन मंसूर अल-मुइदी 76 साल की उम्र में लोगों के बीच धर्म, विज्ञान, और सुधार के लिए जीवन भर की सेवा के बाद आप का निधन हो ग़या।
बयान में कहा गया है: कि "इस प्रमुख यमनी अल्लामा ने अपना जीवन धार्मिक विज्ञान पढ़ाने और उपयोगी विज्ञान पढ़ाने में बिताया और उत्तरी यमन में सअदा प्रांत के खिलाफ क्रूर युद्ध के दौरान उत्पीड़ित और विस्थापितों के समर्थकों में से एक था।
यमनी उलेमा एसोसिएशन ने अल्लामा सैय्यद हुसैन बिन मजुद्दीन बिन मुहम्मद बिन मंसूर अल-मुइदी के छात्रों और प्रेमियों से इन के ही मार्ग में कदम उठाकर धार्मिक विज्ञान और शिक्षाओं को सीखने और लोगों का मार्गदर्शन दिख़ाने और ईश्वर के लिए आमंत्रित करने और अच्छे कामे के लिए कहना और बुरे कामों से मना करने का आह्वान किया।
3903036
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: