IQNA

आशूरा इंटरनेशनल फाउंडेशन का बयान;
16:28 - August 22, 2021
समाचार आईडी: 3476287
तेहरान(IQNA)इंटरनेशनल आशूरा फाउंडेशन ने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हुसैनी शोक मनाने वालों पर तकफ़ीरी आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए एक बयान जारी किया और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और मानवाधिकार संगठनों से इन हमलों के सामने चुप न रहने और निवारक और कानूनी उपाय करने का आह्वान किया।

इस कथन का पाठ, जिसकी एक प्रति IQNA को प्रदान की गई थी, इस प्रकार है:
بسم الله الرحمن الرحیم
وسیعلم الذین ظلموا ای منقلب ینقلبون
पंजाब, पाकिस्तान में आशूरा के दिन और हज़रत अबा अब्दिल्ला अल-हुसैन अ. और उनके अहले बैत ( अ.स) और उनके प्यारे साथियों की शहादत के दिन अबा अब्दुल्ला अल-हुसैन अ.स. के शहीदों के शोक जुलूस पर वहाबी तकफ़ीरी आतंकवादियों का क्रूर और आपराधिक हमला ज़माने के यज़ीदों द्वारा, फिर से पाकिस्तान और इस्लाम और मानवता की दुनिया को दुखी और सोगवार कर दिया। यह खूनी और दिल दहला देने वाली त्रासदी तकफ़ीरी और सांप्रदायिक सोच और साथ ही साथ इन खून के प्यासे और भाड़े के वहाबवाद तत्वों की प्रतिशोधी क्रूरता को दर्शाती है, जिसने कुछ शक्तिशाली बम फेंककर एक भयानक विस्फोट किया और परिणामस्वरूप कई शोक मनाने वाले मारे गए और घायल हो गए।
पाकिस्तान के सभी जनजातियों, जातियों और विभिन्न धर्मों के अनुयायियों के लोग हर साल शोक के शानदार अनुष्ठान करते हैं, इमाम हुसैन (अ.स) के शहीदों के क़याम की स्मृति को पुनर्जीवित करते हैं और दिखाते हैं कि मुहर्रम हमेशा शांति का दूत रहा और एकता और उत्पीड़न विरोधी संस्कृति को बढ़ावा देना है । इस्लाम के पवित्र पैगंबर के अहलेबैत के परिवार के लिए उनका विशेष सम्मान और मरतबा है। दूसरी ओर, उनके दुश्मनों और पाकिस्तान में पिशाच तकफिरियों के भाड़े के नज़दूरों ने हमेशा पाकिस्तानी मुसलमान में एकता और शांति के माहौल को नष्ट करने की कोशिश की है। हालांकि, इस तरह की हताश कार्रवाइयों का कोई असर नहीं है और न ही होगा।
इंटरनेशनल आशूरा फाउंडेशन शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता है और बम विस्फोट में घायलों और ज़ख़मियों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करता है, और पाकिस्तानी अधिकारियों से इस अपराध के अपराधियों की पहचान करने और उन्हें गिरफ्तार करने और उन्हें कड़ी सजा देने का आह्वान करता है। और किसी भी आतंकवादी ऑपरेशन को रोकने के लिए विशेष उपाय करें।
हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय और दुनिया के मानवाधिकार संस्थानों से भी आह्वान करते हैं कि पाकिस्तान में अहलेबैत (अ.स)के अनुयायियों के खिलाफ बार-बार आतंकवादी हमलों के मामले में चुप न रहें और इस अपराध की निंदा करें और इन अपराधियों, आयोजकों, इन तकफ़ीरी समूहों के समर्थकों और प्रायोजकों से लड़ना जारी रखते हुऐ आवश्यक निवारक और कानूनी उपाय करें।
आशूरा इंटरनेशनल फाउंडेशन एक बार फिर पाकिस्तान में अहले-बेत के अनुयायियों की उत्पीड़ित शहादत पर शोक व्यक्त करता है और इस भयानक विस्फोट में घायलों और ज़ख़मियों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता है और सर्वशक्तिमान ईश्वर से दुआ करते हैं कि वह हमेशा दुनिया में इमाम हुसैन (अ) द्वारा जुल्म के खिलाफ और न्याय का झंडा बुलंद करे और इस दुनिया में और उसके बाद के अपराधियों को ज़लील करे।
गौरतलब है कि गुरुवार, 19 अगस्त को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में आशूरा दिवस पर एक बम विस्फोट हुआ था, जिसमें हुसैनी शोक मनाने वालों में कम से कम तीन लोग मारे गए तथा बहावलिंगर में हुए इस विस्फोट में 50 से अधिक लोग घायल हो गऐ थे।
3992240
 
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: