IQNA

11:44 - February 09, 2011
समाचार आईडी: 2078293
संस्कृति और कला विभाग: 7 फरवरी को एक बैठक के दौरान इस्लाम में समुदाय की अवधारणा की समीक्षा और बज़ाहत की गई जो "सफ़ीनतुल हिदायह" केंद्र क्षेत्र "जामेआ नगर" शहर "दिल्ली" में आयोजित हुई.
ईरानी कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) भारत शाखा, यह बैठक "सफ़ीनतुल हिदायह" दिल्ली केंद्र की बैठकों की एक श्रृंखला थी जो 3 फरवरी से शुरू हुई थीं तथा 12 तक जारी रहेंगी.

"मो.हसन मारूफ़ी" दिल्ली बैठक के वक्ता ने, इस्लाम में समुदाय की अवधारणा की चर्चा करते हुए कहाः इस्लाम का उद्देश्य मजबूत, और स्थिर समाज गठन करना है जिसमें अन्य लोगों के अधिकारों की अनदेखी न हो.

मारूफ़ी ने जारी रखते हुऐ कहा: इस्लामी समुदाय में जो कदम उठाना चाहिए भगवान की ख़ुशी और संतुष्टि के लिए हो.

यह शिया मौलवी जो लंदन में रहते हैं ने कहाः कुरान, Nhjalblaghh और Sahife Sajadieh हमारी महत्वपूर्ण पुस्तक हैं और परमेश्वर ऐवं जनता के बीच महत्वपूर्ण रिश्ते बनाने के लिए बुनियादी बात, Sajadieh Sahife का गहराई से अध्ययन है.

रिपोर्ट के अनुसार, मो.हसन मारूफ़ी दिल्ली बैठक के अंत में असीरीऐ अहले हरम के मसाएब व्यक्त किऐ.
743917
.
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: