IQNA

10:43 - October 14, 2012
समाचार आईडी: 2431036
इंटरनेशनल ग्रुप: राजधानी और देश के अन्य भागों में परसों 12 अक्टूबर को बहरीनी लोगों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन को आले खलीफा बलों के हमलों से तितर बितर किया गया.
ईरानी कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) अल आलम न्यूज नेटवर्क के हवाले से, आले खलीफा शासन के बलों ने परसों शाम को देश भर में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन युद्ध वाली गोलियों, ध्वनि बम और जहरीली गैस के साथ तितर बितर कर दिया.
यह विरोध प्रदर्शन 14 फ़रवरी गठबंधन की दावत पर बहरीन के विभिन्न भागों में आयोजित किया गया था और आले खलीफा शासन के बलों ने मनामा में प्रदर्शनकारियों पर हमला करके उनमें से कुछ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.
विरोध प्रदर्शन में भाग लेने वालों ने 14 फरवरी क्रांति में किए गए कैदियों और प्रमुख हस्तियों की तस्वीरें उठा कर अल खलीफा शासन के अपदस्त होने और आत्मनिर्णय के अधिकार की मांग की.
मनामा की 3 किलोमीटर की दूरी पर सेंट «Albdy,भी परसों हजारों बहरीनी लोगों की उपस्थित की गवाह थी और प्रदर्शनकारी नागरिकों के रक्तपात को रोकने के लिए मांग कर रहे थे.
दूसरी ओर, अयातुल्लाह शेख ईसा Qassim मनामा में शुक्रवार की नमाज के उपदेशक और बहरीनी शिया नेता को आले खलीफा शासन ने धमकी दी कि शुक्रवार की नमाज में ख़ुतबा देना बंद करें.
जब कि अयातुल्लाह शेख ईसा Qassim ने परसों शुक्रवार की नमाज के ख़ुतबे में नागरिकों के अपनी जान और इज़्ज़ की रक्षा अधिकार पर ज़ोर देते हुऐ उन लोगों की जो इस मुद्दे को आतंकवाद बताते हैं और शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शनों में प्रदर्शनकारियों की हत्या कर रहें हैं आलोचना की

अयातुल्ला Qassim ने कहाः बहरीन में ख़ुतबों की गतिविधियों को रोकना या उनकी हत्या करना जन आंदोलन को बंद नहीं कर सकता है और लोगों को उनके घरों में क़ैद नही कर सकते और क़ौम किसी भी तरह अनी मांगों से पीछे नहीं हट सकती.
1118202
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: