IQNA

इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता ने 1398 को "उत्पादन में उफ़ान" से नामित किया;
16:23 - March 21, 2019
समाचार आईडी: 3473421
राजनीतिक समूह-1398 हिजरी शम्सी की शुरुआत के अवसर पर एक संदेश में अयातुल्ला ख़ामेनई ने ईद नवरूज़ और मिलाद मसूद अमीरुल मोमनीन, हज़रत अली अलैहिस सलाम की, प्रिय देशवासियो, विशेष रूप से शहीदों और बहादुरों के महान परिवारों को बधाई पेश करने के साथ, और खुशी, नेकबख़्तती, शारीरिक सलामती और ईरान के राष्ट्र के लिए आध्यात्मिक व दुनयवी तौफ़ीक़ात के वर्ष की इच्छा के साथ नए साल को "उत्पादन में उफ़ान" से नामित किया।
IQNA की रिपोर्ट; सर्वोच्च नेता के कार्यालय के सूचना आधार के अनुसार, इस्लामिक क्रांति के सर्वोच्च नेता ने, 1398 हिजरी शमसी की शुरुआत के अवसर पर एक संदेश में, ईदे नवरोज़ और मिलाद मसूद अमीर अल-मोमनीन इमाम अली अलैहिस सलाम की प्रिय देशवासियो, विशेष रूप से शहीदों और बहादुरों के महान परिवारों को बधाई पेश करने के साथ, और खुशी, नेकबख़्तती, शारीरिक सलामती और ईरान के राष्ट्र के लिए आध्यात्मिक व दुनयवी तौफ़ीक़ात के वर्ष की इच्छा के साथ नए साल को "उत्पादन में उफ़ान" से नामित किया।
अयातुल्ला ख़ामेनई ने 97 साल के मूल्यांकन में, उन्होंने इसे साहसिक साल बताया और कहा कि दुश्मनों ने इस साल में ईरान के लिए कई नक्शे तैयार किऐ थे, लेकिन सही मायने में ईरानी राष्ट्र ने अपने को चमका दिया और शक्ति और दृष्टि और युवाओं के प्रयासों के साथ, इन नक्शों को नाकाम बना दिया।
इस्लामी क्रांति के नेता ने राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्रों में अमेरिका और यूरोप के सख़्त प्रतिबंधों के मुक़ाबिल लोगों की प्रतिक्रिया को मजबूती और क़दरतमंद प्रतिक्रिया बताया और कहा: राजनीतिक मैदान में इस प्रतिक्रिया का अभिव्यक्ति 22 बहमन(11फ़रवरी) की बड़े पैमाने पर मार्च और पिछले कुछ वर्षों में लोगों की स्थिति थी और अर्थव्यवस्था के मुक़ाबले में भी "वैज्ञानिक और तकनीकी ईजादात में वृद्धि", "'ज्ञान' के निर्माण को बढ़ावा देने वाली कंपनियों की नाटकीय वृद्धि, घरेलू बुन्यादी व अंतर्निहित उत्पादन में बढ़ौतरी जैसे देश के दक्षिण की कई गैस के चरणों के उद्घाटन और Bandar Abbas में प्रमुख रिफाइनरी का उद्घाटन है", ईरानी राष्ट्र ने दुश्मनों की दुश्मनी और बुराई के मुक़ाबिल में अपने पावर और हैबत और अपनी महानता को दिखा दिया और देश और क्रांति व इस्लामी गणराज्य की गरिमा को बढ़ा दिया।
उन्होंने आगे कहा कि देश की मुख्य समस्या, आर्थिक समस्या को बताया और हाल के महीनों में लोगों की जीविकी समस्याओं की ओर इशारा करते हुऐ कहा कि आर्थिक मुद्दों के क्षेत्र में इन समस्याओं का एक हिस्सा अपर्याप्त प्रबंधन से संबंधित है कि हतमन क्षतिपूर्ति होना चाहिए, बेशक योजनाओं और उपायों पर विचार किया गया है कि ये उपाय पूरे नए साल में प्रभावी होने चाहिए और लोग इसके प्रभाव को महसूस करें।
हज़रत अयातुल्ला ख़ामेनई ने फिर से ज़ोर देते हुऐ कि देश का प्राथमिकता और तत्काल और गंभीर मुद्दा अर्थव्यवस्था का मुद्दा है, "राष्ट्रीय मुद्रा का अवमूल्यन" "लोगों की क्रय शक्ति'और "कुछ कारखानों का बंद होना या काम कम करना" देश की अर्थव्यवस्था में प्रमुख समस्याओं के रूप में है और बल दियाः अध्ययन और विशेषज्ञो की राय के आधार पर, इन सभी समस्याओं को हल करने की कुंजी, "राष्ट्रीय उत्पादन का विकास" है।
इस्लामी क्रांति के नेता ने, 97 वर्ष की नारे की लोकप्रियता, अर्थात् "ईरानी वस्तुओं का समर्थन" और इसके सकारात्मक प्रभावों का उल्लेख करते हुए कहा: "इस वर्ष, केंद्रीय मुद्दा" उत्पादन "का मुद्दा है, क्योंकि अगर उत्पादन प्रवाहित हो, तो आजीविका और रोजगार दोनों समस्याएं हल हो जाऐंगी व देश को विदेशियों और दुश्मनों से भी बेनयाज़ करेगा और यह राष्ट्रीय मुद्रा के मूल्य की समस्या को भी काफी हद तक हल कर सकता है, इसलिए मैंने इस साल का नारा "उत्पाद उछाल" दिया है।
अयातुल्ला ख़ामेनई ने सभी से देश में उत्पादन की समृद्धि के लिए काम करने का आह्वान किया, और उम्मीद जताई कि आर्थिक समस्या पूरे साल इस प्रयास के नाटकीय विस्तार से हल होने की राह पर होगी।
वह इमाम ख़ुमैनी और सरफराज शहीदों की आत्माओं पर दुरूद और हज़रत वलीय अस्र (अज.)की बारगाह में सलाम उन महान मनुष्य की दुआ और ईरानी लोगों और सभी देशों की मिल्लतों जो नवरूज मनाने वाले हैं की सआदत और समृद्धि का सर्वशक्तिमान ईश्वर से सवाल किया।
3799238
 
 
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :