IQNA

15:09 - September 15, 2020
समाचार आईडी: 3475144
तेहरान (IQNA) पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने कहा: इस्लामी बैंकिंग और वित्तपोषण प्रणाली आर्थिक शोषण को समाप्त करने के लिए एक व्यापक मंच प्रदान करती है और समाज के कमजोर वर्गों के विकास के लिए इसके कार्यान्वयन पर बल दिया।

डेली टाइम्स के हवाले से, पाकिस्तानी राष्ट्रपति आरिफ़ अलवी ने 10 वें इस्लामिक इस्लामिक फाइनेंशियल अवार्ड्स (GIFA) समारोह में देश में वित्तपोषण प्रणाली के कार्यान्वयन पर जोर देते हुऐ कहा: न्याय, समानता, पारदर्शिता और सामाजिक सद्भाव की खोज इस्लामी वित्तपोषण के सिद्धांतों का गठन करते हैं।
 
राष्ट्रपति ने समाज में धन की एकाग्रता को रोकने और अभिजात्य वर्ग के शोषण और हतोत्साहन को खत्म करने के लिए इस्लामी सिद्धांतों पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया।
 
अलवी ने कहा कि वैश्विक वित्तपोषण में इस्लामी वित्तपोषण 2.7 ट्रिलियन डॉलर का योगदान देता है, लेकिन पारंपरिक बैंकिंग की तुलना में यह हिस्सा अपेक्षाकृत छोटा है।
 
उन्होंने कहा कि 17 प्रतिशत पाकिस्तानी बैंकों ने शरिया-अनुपालन सेवाओं की ओर रुख किया है और पाकिस्तानी स्टेट बैंक के साथ-साथ पाकिस्तान प्रतिभूति और विनिमय आयोग की भूमिका की भी इस क्षेत्र में प्रशंसा की।
3923037

 
 
 
 
 
                                                                                                                                               
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: