IQNA

23:13 - July 09, 2020
समाचार आईडी: 3474929
तेहरान (IQNA) यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने सऊदी गठबंधन के पाश्विक हमलों के मुक़ाबले में संयुक्त राष्ट्र संघ के पक्षपाती रवैये की कड़ी आलोचना की है।

अंसारुल्लाह आंदोलन ने घोषणा की है कि यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत मार्टिन ग्रिफ़ित्स सऊदी अरब को पूरी तरह से बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने अपने ताज़ा बयान में त्वरित युद्ध विराम का सुझाव पेश किया और कहा कि वर्चस्व जमाने के प्रयास से बचा जाए ताकि शांति और सुलह के लिए अवसर प्रशस्त हो सके।

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने इस सुझाव के जवाब में में एक बयान जारी करके कहा कि मआरिब के मोर्चे पर यथाशीघ्र यमनी सेना का नियंत्रण होने वाला है इसीलाए यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत ने यह प्रस्ताव पेश किया है जिससे इस बात का पता चलता है कि वह यमन की वर्तमान वास्तविकता की अनदेखी करके सऊदी गठबंधन को पराजय से बचाने और उसके लिए सफलताओं का मार्ग प्रशस्त करने का प्रयास कर रहे हैं।

अंसारुल्लाह आंदोलन ने कहा कि यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधि की इस योजना में गंभीरता और सच्चाई बिल्कुल ही नहीं है। (AK)

parstoday

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :
* captcha: